Learning Zone

Learning Zone

Debit Note Entry in Tally Prime | डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कब और कैसे करे?

Debit Note Entry in Tally Prime

दोस्तो आज हम इस पोस्ट मे जानेगे की Tally Prime मे Debit Note की Entry कैसे करे| दोस्तो इससे पहले हमे यह जान लेना चाहिए की वह कौन-कौन से कारण है जिसके चलते Debit Note बनाए जाते है|

What is Debit Note? डेबिट नोट क्या है और इसे क्यू बनाया जाता है?

माल का खरीदार विक्रेता को गुणवत्ता के मुद्दों या अन्य कारणों से प्राप्त माल वापस करने के लिए एक डेबिट नोट जारी करता है। डेबिट नोट में माल की वापसी का कारण होता है। माल का विक्रेता यह पुष्टि करने के लिए एक क्रेडिट नोट जारी करता है कि खरीद वापसी स्वीकार कर ली गई है। 

तो चलिये जानते है की वे कौन-कौन से कारण है जिसके चलते Debit Note बनाया जाता है|

  1.  जब खरीदा हुआ समान वापस करना हो इसे हम Purchase Return भी कहते है |
  2. जब खरीदा हुआ समान की quality ठीक न हो और हमे विक्रेता या Supplier को समान वापस न करते हुए, समान पर कुछ डिस्काउंट लेना हो|
  3. यदि Supplier ने कोई टारगेट दिया हो और उस टारगेट के पूरा होने के बाद incentive प्राप्त करने के लिए|
  4. जब हम Sales Invoice करते है और उसमे गलती से माल को कम रेट मे बिल कर देते है तो उस गलती को सुधारने के लिए|
  5. यदि आपने जिस Supplier से माल खरीदा है और उस Supplier ने गलती से ज्यादा रेट मे बिल बना दिया हो तो उस गलती को सुधारने के लिए|
  6. यदि निश्चित किसी अवधि मे Supplier को पेमेंट करने पर Cash Discount प्राप्त हो रहा हो तो उसके लिए भी Debit note बनाए जाते है|

Debit Note Voucher को Tally Prime मे  Active कैसे करे|

दोस्तो टैलि प्राइम मे डेबिट नोट की एंट्री करने के लिए सबसे पहले डेबिट नोट वाउचर को टैलि प्राइम मे एक्टिव करना पड़ता है, तभी यह Alt+F5 प्रैस करने पर शो करता है| इसके लिए आपको नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करना होगा|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. उसके बाद कीबोर्ड से F10 बटन प्रैस करे, आपके सामने List of Voucher Types की विंडो खुल जाएगी|
  3. यहा पर Show Inactive के ऑप्शन पर क्लिक करे|
  4. आपके सामने वाउचर की लिस्ट खुल जाएगी, यहा पर आपको Debit Note पर क्लिक करना है, क्लिक करते ही आपके सामने एक विंडो खुलेगी उसे Yes कर देना है|
  5. अब आपका Debit Note Voucher एक्टिव हो चुका है|  

Tally Prime मे Debit Note कैसे बनाया जाता है|

दोस्तो अबतक हमने जाना की डेबिट नोट क्या होता है और इसे कब-कब बनाया जाता है| और इसे टैलि प्राइम मे कैसे एक्टिव किया जाता है| अब हम जानेगे की टैलि प्राइम मे डेबिट नोट वाउचर की एंट्री कब और कैसे करते है| इसे हम अलग-अलग उदाहरण के द्वारा समझते है| 

उदाहरण – 1

01/01/23 को हमने ABC Pvt Ltd से 10 पिस Laptop 25000/ pic 18% GST पर खरीदा| 02/01/23 को जब माल हमे प्राप्त हुआ तो हमने देखा की 2 पिस  Laptop damage है|

इस केश मे हमे टैलि मे दो एंट्री करना होगा, सबसे पहले 01/01/23 मे हमे Purchase की एंट्री टैलि मे लेनी होगी जैसा की आप नीचे पिक्चर मे देख सकते है| यदि आपको यह नही पता की टैलि मे Purchase की एंट्री कैसे करते है तो आप नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करके हमारा यह आर्टिक्ल पढ़ सकते है|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Purchase की एंट्री करने के बाद अब हम Debit Note की एंट्री टैलि मे करेगे उसके लिए आप नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करे|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. अब  कीबोर्ड से Alt+F5 बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Debit Note वाउचर की विंडो ओपेन हो जाएगी|
  3. अब कीबोर्ड से Ctrl+H बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Change Voucher Mode की विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको वह मोड सिलेक्ट करना है जिस मोड मे आप डेबिट नोट की एंट्री करना है| 
  4. हमे 2 पिस लैपटाप Supplier को वापस करना है, तो इस केस मे हम Item Invoice ऑप्शन को सिलेक्ट करेगे|
  5. सबसे पहले हम कीबोर्ड से F2 बटन प्रैस करके डेबिट नोट का date डाल लेंगे, जैसे की हमारे केस मे 02/01/2023 को माल प्राप्त हुआ है| तो हम उसी डेट मे सप्लायर को डेबिट नोट जारी करगे|
  6. अब Party A/c name मे हम सप्लायर का लेजर सिलेक्ट कर लेंगे|
  7. सप्लायर का लेजर सिलेक्ट करते ही आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, यहा पर आपको Tracking No(s), Carrier Name/Agent, Bill of Lading/LR-RR No, Date, Motor Vehicle No आदि डिटेल्स डालना होगा, इसमे जो भी डिटेल्स आपके पास है वह आप डाल देंगे|
  8. Dispatch Details के नीचे Original Invoice Details मे Original Invoice No और Date डालना होगा| यानि की आपने जब माल खरीदा था और उस समय सप्लायर से जो invoice मिला था उसकी डिटेल्स इसमे डालनी है|
  9. Dispatch Details डालने के बाद आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, जिसमे आपको पार्टी का नाम, एड्रैस, GST नंबर आदि शो करेगा, यदि आप इसमे कुछ बदलाओ करना चाहते है तो कर सकते है,यदि आपकी डिटेल्स सही है तो आप इसे एसे ही एक्सैप्ट करा दे|
  10. Ledger account मे आप Purchase Return के लेजर को सिलेक्ट कर ले, यदि आपने पहले से Purchase Return का लेजर नही बनाया है तो इसे बना ले| यदि आपको लेजर बनाना नही आता तो हमारे इस आर्टिक्ल को पढ़ सकते है|

    Tally Prime me ledger kaise banaye ? Create Single or Multiple ledger in Tally Prime

  11. अब आप Name of Item मे जिस माल को वापस करना है उसको सिलेक्ट करे| उसके बाद उस माल की Quantity, Rate और Amount डाले, जैसा की परचेस बिल मे दिया गया हो|
  12. आइटम की डिटेल्स डालने के बाद उसके ऊपर GST लगाना है, यदि खरीदार और विक्रेता एक ही राज्य के है तो बिल पर CGST और SGST चार्ज होगा, मगर यदि खरीदार और विक्रेता अलग-अलग राज्य के है तो बिल पर IGST चार्ज होगा|
  13. अब आपको Provide GST/e-Way Bill details मे Yes करना होगा, इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको Reason for Issuing Note मे आप जिस कारण से डेबिट नोट बना रहे है उस कारण को सिलेक्ट करना होगा, Supplier”s Debit/Credit Note No और Date मे यदि सप्लायर ने Credit note जारी किया है तो उसकी डिटेल्स यहा पर डालना है| e-Way Bill Details मे यदि आपने e-Way bill जारी किया है तो उसकी डिटेल्स डाल सकते है अन्यथा आप इसे छोड़ भी सकते है|
  14. Narration मे आप डेबिट नोट से जुड़ी जानकारी डाल सकते है| 
  15. उसके बाद आप डेबिट नोट वाउचर को accept करा दे|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

उदाहरण – 2 

01/02/2023 को हमने XYZ Pvt Ltd से 50 पिस बैट (Bat) 500/Pic की दर से 12% GST पर खरीदा, लेकिन जब 02/02/2023 को  हमे माल प्राप्त हुआ तो हमने देखा की उसमे 10 पिस बैट की quality ठीक नही है, तब हमने अपने सप्लायर को सूचना दिया की आपने जो माल भेजा था उसमे 10 पिस बैट की quality सही नही है, तब सप्लायर ने हमसे कहा की जिस बैट की quality ठीक नही है उसे आप वापस मत करो मै उस 10 पिस बैट की किमत 300/पिस 12% GST के साथ लगा देता हु|

इस केश मे हमे टैलि मे दो एंट्री करना होगा, सबसे पहले 01/02/2023 मे हमे Purchase की एंट्री टैलि मे लेनी होगी जैसा की आप नीचे पिक्चर मे देख सकते है|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Purchase की एंट्री करने के बाद अब हम Debit Note की एंट्री टैलि मे करेगे उसके लिए आप नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करे|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. अब  कीबोर्ड से Alt+F5 बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Debit Note वाउचर की विंडो ओपेन हो जाएगी|
  3. अब कीबोर्ड से Ctrl+H बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Change Voucher Mode की विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको वह मोड सिलेक्ट करना है जिस मोड मे आप डेबिट नोट की एंट्री करना है| 
  4. हमे 10 पिस बैट की खराब quality के चलते Supplier से 200 रुपया पर पिस डिस्काउंट लेना है, तो इस केस मे भी हम Item Invoice ऑप्शन को सिलेक्ट करेगे|
  5. सबसे पहले हम कीबोर्ड से F2 बटन प्रैस करके डेबिट नोट का date डाल लेंगे, जैसे की हमारे केस मे 02/02/2023 को माल प्राप्त हुआ है| तो हम उसी डेट मे सप्लायर को डेबिट नोट जारी करगे|
  6. अब Party A/c name मे हम सप्लायर का लेजर सिलेक्ट कर लेंगे|
  7. सप्लायर का लेजर सिलेक्ट करते ही आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, यहा पर आपको Tracking No(s), Carrier Name/Agent, Bill of Lading/LR-RR No, Date, Motor Vehicle No आदि डिटेल्स डालने का ऑप्शन आएगा पर हमे यहा कुछ नही डालना है, क्योंकि हम यहा कोई भी माल वापस नही कर रहे है|  
  8. Dispatch Details के नीचे Original Invoice Details मे Original Invoice No और Date डालना होगा| यानि की आपने जब माल खरीदा था और उस समय सप्लायर से जो invoice मिला था उसकी डिटेल्स इसमे डालनी है|
  9. Dispatch Details डालने के बाद आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, जिसमे आपको पार्टी का नाम, एड्रैस, GST नंबर आदि शो करेगा, यदि आप इसमे कुछ बदलाओ करना चाहते है तो कर सकते है,यदि आपकी डिटेल्स सही है तो आप इसे एसे ही एक्सैप्ट करा दे|
  10. Ledger account मे आप Discount on Purchase (Under Group – Purchase Account) के लेजर को सिलेक्ट कर ले, यदि आपने पहले से Discount on Purchase का लेजर नही बनाया है तो इसे बना ले|
  11. अब आप Name of Item मे जिस माल की quality खराब है उसको सिलेक्ट करे| Quantity और Rate मे आपको कुछ भी नही डालना है, क्योंकि हम कोई भी माल वापस नही कर रहे है, आपको केवल Amount मे डिस्काउंट का amount डाल देना है, मेरे केश मे 2000 रुपया है (200/pic*10) तो मै इतना ही डाल देता हु|
  12. आइटम की डिटेल्स डालने के बाद उसके ऊपर GST लगाना है, यदि खरीदार और विक्रेता एक ही राज्य के है तो बिल पर CGST और SGST चार्ज होगा, मगर यदि खरीदार और विक्रेता अलग-अलग राज्य के है तो बिल पर IGST चार्ज होगा|
  13. अब आपको Provide GST details मे Yes करना होगा, इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको Reason for Issuing Note मे आप जिस कारण से डेबिट नोट बना रहे है उस कारण को सिलेक्ट करना होगा, Supplier”s Debit/Credit Note No और Date मे यदि सप्लायर ने Credit note जारी किया है तो उसकी डिटेल्स यहा पर डालना है| 
  14. Narration मे आप डेबिट नोट से जुड़ी जानकारी डाल सकते है| 
  15. उसके बाद आप डेबिट नोट वाउचर को accept करा दे|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

उदाहरण – 3

Abc Pvt Ltd मेरा सप्लायर है और उसने मुझे टारगेट दिया की यदि मैंने फरवरी महीने मे 30 पिस या उससे ज्यादा लैपटॉप खरीदा तो वह मुझे 500 रुपया प्रति लैपटॉप incentive देगा| और मैंने फरवरी महीने मे 32 पिस लैपटॉप खरीद कर टारगेट प्राप्त कर लिया|

इस केश मे आप जब-जब माल खरीदेगे उस डेट मे परचेज की एंट्री कर लेंगे और महीने के लास्ट मे एक डेबिट नोट सप्लायर को जारी करगे, उसके लिए आप नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करे|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. अब  कीबोर्ड से Alt+F5 बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Debit Note वाउचर की विंडो ओपेन हो जाएगी|
  3. अब कीबोर्ड से Ctrl+H बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Change Voucher Mode की विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको वह मोड सिलेक्ट करना है जिस मोड मे आप डेबिट नोट की एंट्री करना है| 
  4. सपलायर ने मुझे 30 लैपटॉप खरीदने का टारगेट दिया था और मैंने 32 पिस लैपटॉप खरीदा, उसके लिए सप्लायर मुझे 16000 रुपया (32*500) incentive देगा , तो इस केस मे भी हम Item Invoice ऑप्शन को सिलेक्ट करेगे|
  5. सबसे पहले हम कीबोर्ड से F2 बटन प्रैस करके डेबिट नोट का date डाल लेंगे|
  6. अब Party A/c name मे हम सप्लायर का लेजर सिलेक्ट कर लेंगे|
  7. सप्लायर का लेजर सिलेक्ट करते ही आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, यहा पर आपको Tracking No(s), Carrier Name/Agent, Bill of Lading/LR-RR No, Date, Motor Vehicle No आदि डिटेल्स डालने का ऑप्शन आएगा पर हमे यहा कुछ नही डालना है, क्योंकि हम यहा कोई भी माल वापस नही कर रहे है|  
  8. Dispatch Details के नीचे Original Invoice Details मे Original Invoice No और Date डालना होगा| यानि की आपने जब माल खरीदा था और उस समय सप्लायर से जो invoice मिला था उसकी डिटेल्स इसमे डालनी है| यदि आपने सप्लायर से अलग-अलग डेट्स पर माल खरीदा है तो आप आखरी बिल की डिटेल्स डाल दे|
  9. Dispatch Details डालने के बाद आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, जिसमे आपको पार्टी का नाम, एड्रैस, GST नंबर आदि शो करेगा, यदि आप इसमे कुछ बदलाओ करना चाहते है तो कर सकते है,यदि आपकी डिटेल्स सही है तो आप इसे एसे ही एक्सैप्ट करा दे|
  10. Ledger account मे आप Incentive on Purchase (Under Group – Purchase Account) के लेजर को सिलेक्ट कर ले, यदि आपने पहले से Incentive on Purchase का लेजर नही बनाया है तो इसे बना ले|
  11. अब आप Name of Item मे जिस माल पर आपको incentive मिल रहा है उसको सिलेक्ट करे| Quantity और Rate मे आपको कुछ भी नही डालना है, क्योंकि हम कोई भी माल वापस नही कर रहे है, आपको केवल Amount मे Incentive का amount डाल देना है, मेरे केश मे 16000 रुपया है (32/pic*500) तो मै इतना ही डाल देता हु|
  12. आइटम की डिटेल्स डालने के बाद उसके ऊपर GST लगाना है, यदि खरीदार और विक्रेता एक ही राज्य के है तो बिल पर CGST और SGST चार्ज होगा, मगर यदि खरीदार और विक्रेता अलग-अलग राज्य के है तो बिल पर IGST चार्ज होगा|
  13. अब आपको Provide GST details मे Yes करना होगा, इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको Reason for Issuing Note मे आप जिस कारण से डेबिट नोट बना रहे है उस कारण को सिलेक्ट करना होगा, मेरे केश के अनुसार मैं यहा पे Post Sale Discount सिलेक्ट कर रहा हु, Supplier”s Debit/Credit Note No और Date मे यदि सप्लायर ने Credit note जारी किया है तो उसकी डिटेल्स यहा पर डालना है| 
  14. Narration मे आप डेबिट नोट से जुड़ी जानकारी डाल सकते है| 
  15. उसके बाद आप डेबिट नोट वाउचर को accept करा दे|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

उदाहरण – 4

मैंने 01/03/2023 को Aditya Enterprises को 10 लैपटॉप 30000 रुपया प्रति लैपटॉप की दर से 18% GST  पर बिल कर दिया और बाद मे मुझे पता चला की उस लैपटॉप की किमत 32000 रुपया प्रति लैपटॉप थी| 

इस केश मे हमे टैलि मे दो एंट्री करना होगा, सबसे पहले हमे Sales की एंट्री टैलि मे लेनी होगी जैसा की आप नीचे पिक्चर मे देख सकते है| यदि आपको यह नही पता की टैलि मे Sales की एंट्री कैसे करते है तो आप नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करके हमारा यह आर्टिक्ल पढ़ सकते है|

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे | पूरी जानकारी हिन्दी मे |

 

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Sales की एंट्री करने के बाद अब हम Debit Note की एंट्री टैलि मे करेगे उसके लिए आप नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करे|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. अब  कीबोर्ड से Alt+F5 बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Debit Note वाउचर की विंडो ओपेन हो जाएगी|
  3. अब कीबोर्ड से Ctrl+H बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Change Voucher Mode की विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको वह मोड सिलेक्ट करना है जिस मोड मे आप डेबिट नोट की एंट्री करना है| 
  4. मैंने अपने कस्टमर को कम रेट मे लैपटॉप बिल कर दिया है, तो इस केस मे भी हम Item Invoice ऑप्शन को सिलेक्ट करेगे|
  5. सबसे पहले हम कीबोर्ड से F2 बटन प्रैस करके डेबिट नोट का date डाल लेंगे|
  6. अब Party A/c name मे हम सप्लायर का लेजर सिलेक्ट कर लेंगे|
  7. सप्लायर का लेजर सिलेक्ट करते ही आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, यहा पर आपको Tracking No(s), Carrier Name/Agent, Bill of Lading/LR-RR No, Date, Motor Vehicle No आदि डिटेल्स डालने का ऑप्शन आएगा पर हमे यहा कुछ नही डालना है, क्योंकि हम यहा कोई भी माल वापस नही कर रहे है|  
  8. Dispatch Details के नीचे Original Invoice Details मे Original Invoice No और Date डालना होगा| यानि की आपने माल बेचते समय जो invoice जारी किया था, उसकी डिटेल्स इसमे डालनी है|
  9. Dispatch Details डालने के बाद आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, जिसमे आपको पार्टी का नाम, एड्रैस, GST नंबर आदि शो करेगा, यदि आप इसमे कुछ बदलाओ करना चाहते है तो कर सकते है,यदि आपकी डिटेल्स सही है तो आप इसे एसे ही एक्सैप्ट करा दे|
  10. Ledger account मे आप Sales Account के लेजर को सिलेक्ट कर ले|
  11. अब आप Name of Item मे जिस माल पर आपने कम रेट लगा दिया है उसको सिलेक्ट करे| Quantity और Rate मे आपको कुछ भी नही डालना है, क्योंकि हम कोई भी माल वापस नही कर रहे है, आपको केवल Amount मे difference amount डाल देना है| जैसा की मेरे केश मे 20000 रुपया (2000*10) है|
  12. आइटम की डिटेल्स डालने के बाद उसके ऊपर GST लगाना है, यदि खरीदार और विक्रेता एक ही राज्य के है तो बिल पर CGST और SGST चार्ज होगा, मगर यदि खरीदार और विक्रेता अलग-अलग राज्य के है तो बिल पर IGST चार्ज होगा|
  13. अब आपको Provide GST details मे Yes करना होगा, इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको Reason for Issuing Note मे आप जिस कारण से डेबिट नोट बना रहे है उस कारण को सिलेक्ट करना होगा, मेरे केश के अनुसार मैं यहा पे Correction in Invoice सिलेक्ट कर रहा हु|
  14. Narration मे आप डेबिट नोट से जुड़ी जानकारी डाल सकते है| 
  15. उसके बाद आप डेबिट नोट वाउचर को accept करा दे|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

उदाहरण – 5

01/03/2023 को ABC Pvt Ltd से 10 पीस Printer उधार पर खरीदा, मगर जब हमे बिल प्राप्त हुआ तो हमने देखा की बिल मे प्रिंटर का मूल्य 15000 रुपया प्रति प्रिंटर 18% GST पर लगाया गया है| जबकि सप्लायर से 14000 रुपया प्रति प्रिंटर की बात हुई थी| इसके बाद हमने सप्लायर से संपर्क किया और बताया की आपने बिल मे प्रिंटर की किमत ज्यादा लगा दिया है, ईसपे सप्लायर ने माना की गलती से प्रिंटर की किमत ज्यादा लग गई है|

इस केश मे हमे टैलि मे दो एंट्री करना होगा, सबसे पहले 01/03/2023 मे हमे Purchase की एंट्री टैलि मे लेनी होगी जैसा की आप नीचे पिक्चर मे देख सकते है|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

Purchase की एंट्री करने के बाद अब हम Debit Note की एंट्री टैलि मे करेगे उसके लिए आप नीचे दिये गए स्टेप को फ्लो करे|

  1. Gateway of Tally मे आकार Vouchers पर क्लिक करे या कीबोर्ड से V बटन प्रैस करे|
  2. अब  कीबोर्ड से Alt+F5 बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Debit Note वाउचर की विंडो ओपेन हो जाएगी|
  3. अब कीबोर्ड से Ctrl+H बटन प्रैस करे, अब आपके सामने Change Voucher Mode की विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको वह मोड सिलेक्ट करना है जिस मोड मे आप डेबिट नोट की एंट्री करना है| 
  4. सप्लायर ने मुझे प्रिंटर को ज्यादा रेट मे बिल कर दिया है, तो इस केस मे भी हम Item Invoice ऑप्शन को सिलेक्ट करेगे|
  5. सबसे पहले हम कीबोर्ड से F2 बटन प्रैस करके डेबिट नोट का date डाल लेंगे|
  6. अब Party A/c name मे हम सप्लायर का लेजर सिलेक्ट कर लेंगे|
  7. सप्लायर का लेजर सिलेक्ट करते ही आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, यहा पर आपको Tracking No(s), Carrier Name/Agent, Bill of Lading/LR-RR No, Date, Motor Vehicle No आदि डिटेल्स डालने का ऑप्शन आएगा पर हमे यहा कुछ नही डालना है, क्योंकि हम यहा कोई भी माल वापस नही कर रहे है|  
  8. Dispatch Details के नीचे Original Invoice Details मे Original Invoice No और Date डालना होगा| यानि की आपने जब माल खरीदा था और उस समय सप्लायर से जो invoice मिला था उसकी डिटेल्स इसमे डालनी है|
  9. Dispatch Details डालने के बाद आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन हो जाएगी, जिसमे आपको पार्टी का नाम, एड्रैस, GST नंबर आदि शो करेगा, यदि आप इसमे कुछ बदलाओ करना चाहते है तो कर सकते है,यदि आपकी डिटेल्स सही है तो आप इसे एसे ही एक्सैप्ट करा दे|
  10. Ledger account मे आप Purchase Account के लेजर को सिलेक्ट कर ले|
  11. अब आप Name of Item मे जिस माल पर सप्लायर ने ज्यादा रेट लगा दिया है उसको सिलेक्ट करे| Quantity और Rate मे आपको कुछ भी नही डालना है, क्योंकि हम कोई भी माल वापस नही कर रहे है, आपको केवल Amount मे difference amount डाल देना है| जैसा की मेरे केश मे 10000 रुपया (1000*10) है|
  12. आइटम की डिटेल्स डालने के बाद उसके ऊपर GST लगाना है, यदि खरीदार और विक्रेता एक ही राज्य के है तो बिल पर CGST और SGST चार्ज होगा, मगर यदि खरीदार और विक्रेता अलग-अलग राज्य के है तो बिल पर IGST चार्ज होगा|
  13. अब आपको Provide GST details मे Yes करना होगा, इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपेन हो जाएगी, इसमे आपको Reason for Issuing Note मे आप जिस कारण से डेबिट नोट बना रहे है उस कारण को सिलेक्ट करना होगा, मेरे केश के अनुसार मैं यहा पे Correction in Invoice सिलेक्ट कर रहा हु|
  14. Narration मे आप डेबिट नोट से जुड़ी जानकारी डाल सकते है| 
  15. उसके बाद आप डेबिट नोट वाउचर को accept करा दे|

Debit Note Entry in Tally Prime डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कैसे करे

 


इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे |

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Debit Note की Entry कैसे करते है तथा वह कौन-कौन से कारण है जिनके चलते डेबिट नोट बनाया जाता है | यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके||

Debit Note Entry in Tally Prime | डेबिट नोट की एंट्री टैली प्राइम मे कब और कैसे करे? Read More »

Tally Prime मे Contra Voucher की Entry कैसे करे?

contra voucher entry in tally prime

दोस्तो आज  हम इस पोस्ट मे जानेगे की Tally Prime मे Contra Voucher की Entry कैसे करे| दोस्तो Contra Voucher टैलि का एक प्रमुख वाउचर है| इसकी मदद से हम बैंक से लेनदेन की एंट्री टैलि मे कर सकते है| इस वाउचर मे हम केवल Cash या Bank लेजर को ही दिखाते है| तो चलिये दोस्तो अब हम Contra Voucher के बारे मे Details मे जानते है|

Contra Voucher क्या है|

दोस्तो जब भी हम अपने बैंक मे रुपया जमा करते है या जब भी हम अपने बैंक से रुपया निकालते है या जब भी हम अपने एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते मे बैलेन्स ट्रान्सफर करते है| तो उसकी एंट्री हम Tally Prime मे Contra Voucher मे करते है| 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Contra Voucher की Setting कैसे करे|

Tally Prime मे Contra Voucher पर जाने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करे|

Gateway of Tally → Vouchers → F4

Contra Voucher मे आने के बाद आप अपने आवश्यकता के अनुसार कुछ Setting भी कर सकते है|

 1. Contra Voucher नंबर को manual कैसे करे|

यदि आप Contra Voucher नंबर जो की Tally Prime मे बाय डिफ़ाल्ट Automatic सेट होता है उसे आप manual भी लिख सकते है| इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करना होगा|

Gateway of Tally → Alter → Voucher Type → Contra → Method of voucher numbering मे हमे Manual ऑप्शन को सिलेक्ट करना है|

इस Setting को करने के बाद आप Contra Voucher मे Manual Numbering कर सकते है|

2. Tally Prime मे Single entry mode और Double entry mode क्या है|

  • Single entry mode :- दोस्तो Single entry mode उन यूजर के लिए उपयोगी होता है जो अभी Tally सीख रहे है| तथा जिन्हे Dr. और Cr. का ठीक से ज्ञान नही है| Single entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|
  • Double entry mode :- दोस्तो यदि आप Tally अच्छी तरह से सीख चुके है तथा आपको Accounting की भी अच्छी जानकारी है तो आप Double entry mode का चयन कर सकते है| इसमे आपको एक पक्ष को Dr. तथा दूसरे पक्ष को Cr. करना होता है| Double entry mode को लागू करने के लिए कीबोर्ड  से Ctrl+H बटन को Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

Tally Prime मे Contra Voucher की Entry कैसे करे|

Tally Prime मे हम दो तरीको से Contra Voucher की एंट्री सीखेंगे|

  1. Single entry mode
  2. Double entry mode

1. Single entry mode मे Contra Voucher की Entry

Single entry mode को लागू करने के लिए Contra Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|

उदाहरण के लिए :-

10000 रूपये बैंक खाते मे नगद जमा किया|

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Contra Voucher Entry in Tally Prime

2. Double entry mode मे Contra Voucher की Entry

Double entry mode को लागू करने के लिए Contra Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

इसकी एंट्री Tally मे करने के लिए आपको Accounting के Golden Rules को देखना होगा | उसके बाद ही आप Tally मे Double Entry Mode मे कार्य कर पायेंगे |

10000 रूपये बैंक खाते मे नगद जमा किया|

Bank A/c…………….Dr. 10000

Cash A/c…………………….Cr. 10000

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Contra Voucher Entry in Tally Prime

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime मे Payment Voucher की Entry कैसे करे?

Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi ?

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Contra Voucher की Entry कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Contra Voucher की Entry कैसे करे? Read More »

Tally Prime मे Payment Voucher की Entry कैसे करे?

Payment Voucher Entry in Tally Prime

दोस्तो आज  हम इस पोस्ट मे जानेगे की Tally Prime मे Payment Voucher की Entry कैसे करे| दोस्तो Tally Prime मे Payment Voucher एक ऐसा voucher है जिसका उपयोग हम हमेशा करते है| क्यूकी हम व्यवसाय मे कोई भी Goods Purchase करते है या हम व्यवसाय मे किसी भी प्रकार का Expense करते है| तो उसके बदले मे हमे नकद या बैंक से उसका भुगतान करना होता है| उसकी Entry हम Tally Prime मे Payment Voucher मे करते है| तो चलिये दोस्तो अब हम Payment Voucher के बारे मे Details मे जानते है|

Payment Voucher क्या है|

दोस्तो यदि हम व्यवसाय मे किसी भी प्रकार का भुगतान नकद या बैंक से करते है| चाहे वह Goods Purchase से हो या व्यवसाय मे किसी भी प्रकार के खर्चे से हो| तो उसकी Entry हम Tally Prime मे Payment Voucher मे करते है|

दोस्तो हम इसे यह भी कह सकते है की Tally Prime मे जिस entry से हमारा Cash Balance या Bank Balance मे कमी हो रही हो| तो वह एंट्री Payment Voucher मे किया जाता है| क्यूकी Cash Balance या Bank Balance मे कमी तभी होती है जब हम व्यवसाय मे किसी भी प्रकार का भुगतान अथवा पेमेंट करते है|

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Payment Voucher की Setting कैसे करे|

Tally Prime मे Payment Voucher पर जाने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करे|

Gateway of Tally → Vouchers → F5

Payment Voucher मे आने के बाद आप अपने आवश्यकता के अनुसार कुछ Setting भी कर सकते है|

 1. Payment Voucher नंबर को manual कैसे करे|

यदि आप Payment Voucher नंबर जो की Tally Prime मे बाय डिफ़ाल्ट Automatic सेट होता है उसे आप manual भी लिख सकते है| इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करना होगा|

Gateway of Tally → Alter → Voucher Type → Payment → Method of voucher numbering मे हमे Manual ऑप्शन को सिलेक्ट करना है|

इस Setting को करने के बाद आप Payment Voucher मे Manual Numbering कर सकते है|

2. Tally Prime मे Single entry mode और Double entry mode क्या है|

  • Single entry mode :- दोस्तो Single entry mode उन यूजर के लिए उपयोगी होता है जो अभी Tally सीख रहे है| तथा जिन्हे Dr. और Cr. का ठीक से ज्ञान नही है| Single entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|
  • Double entry mode :- दोस्तो यदि आप Tally अच्छी तरह से सीख चुके है तथा आपको Accounting की भी अच्छी जानकारी है तो आप Double entry mode का चयन कर सकते है| इसमे आपको एक पक्ष को Dr. तथा दूसरे पक्ष को Cr. करना होता है| Double entry mode को लागू करने के लिए कीबोर्ड  से Ctrl+H बटन को Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

Tally Prime मे Cash Payment की Entry कैसे करे|

Tally Prime मे हम दो तरीको से Cash भुगतान करने की एंट्री सीखेंगे|

  1. Single entry mode
  2. Double entry mode

1. Single entry mode मे Cash Payment की Entry

Single entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|

उदाहरण के लिए :-

ABC Pvt Ltd से उधार पर माल खरीदा था | जिसके अवज मे उसको 10000 रूपये नकद मे भुगतान किया|

Cash Payment की एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

payment voucher entry tally prime

 

2. Double entry mode मे Cash Payment की Entry

Double entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

इसकी एंट्री Tally मे करने के लिए आपको Accounting के Golden Rules को देखना होगा | उसके बाद ही आप Tally मे Double Entry Mode मे कार्य कर पायेंगे |

ABC Pvt Ltd से उधार पर माल खरीदा था | जिसके अवज मे उसको 10000 रूपये नकद मे भुगतान किया|

ABC Pvt Ltd         Dr. 10000

Cash                       Cr.              10000

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Payment Voucher Entry Tally Prime

 

Tally Prime मे Bank से Payment की Entry कैसे करे|

दोस्तो यदि आप किसी भी पार्टी को Cheque, RTGS, NEFT, IMPS या किसी भी Online Transation के द्वारा बैंक से भुगतान करते है | तो इसकी एंट्री टैलि मे कैसे करेंगे उसे भी देख लेते है|

दोस्तो Bank payment की entry टैलि मे करते समय हमे Cheque No., Cheque Date, Bank Name आदि को डालना होता है| जिससे हम कभी भी Payment की सारी जानकारी आसानी से देख सकते है|

Tally Prime मे हम दो तरीको से Bank से भुगतान करने की एंट्री सीखेंगे|

  1. Single entry mode
  2. Double entry mode

1. Single entry mode मे Bank Payment की Entry

Single entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|

उदाहरण के लिए :-

ABC Pvt Ltd से उधार पर माल खरीदा था | जिसके अवज मे उसको 10000 रूपये ICICI Bank से भुगतान किया|

Bank Payment की एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Payment Voucher Entry in Tally Prime

 

 

2. Double entry mode मे Bank Payment की Entry

Double entry mode को लागू करने के लिए Payment Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

इसकी एंट्री Tally मे करने के लिए आपको Accounting के Golden Rules को देखना होगा | उसके बाद ही आप Tally मे Double Entry Mode मे कार्य कर पायेंगे |

ABC Pvt Ltd से उधार पर माल खरीदा था | जिसके अवज मे उसको 10000 रूपये ICICI Bank से भुगतान किया|

ABC Pvt Ltd         Dr. 10000

ICICI Bank           Cr.              10000

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Payment Voucher Entry in Tally Prime

 

Tally Prime मे Cheque No., Cheque Date, तथा Bank Name कहा पर लिखे |

जब आप Tally Prime मे Payment Voucher मे Bank की Entry करते समय Amount लिखने के बाद Enter दबाते है| तो आपके सामने एक विंडो खुल के आ जाता है| जिसमे Inst No. यानि Cheque No., Inst Date यानि Cheque Date, Cheque range आदि डालने का ऑप्शन आता है| जिसमे आप सारे डिटेल्स को डाल के Save कर सकते है |

Payment Voucher Entry in Tally Prime

 

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi ?

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Payment Voucher की Entry कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Payment Voucher की Entry कैसे करे? Read More »

Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे?

Receipt Voucher Entry in Tally Prime

दोस्तो आज  हम इस पोस्ट मे जानेगे की Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे| दोस्तो Tally Prime मे Receipt Voucher एक ऐसा voucher है जिसका उपयोग हम हमेशा करते है| क्यूकी हम व्यवसाय मे कोई भी Goods Sale करते है या हमे व्यवसाय मे किसी भी प्रकार का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आय होता है| और हमे उसके बदले मे जो नकद या बैंक मे रुपया प्राप्त होता है| उसकी Entry हम Tally Prime मे Receipt Voucher मे करते है| तो चलिये दोस्तो अब हम Receipt Voucher के बारे मे Details मे जानते है|

Receipt Voucher क्या है|

दोस्तो यदि हमे व्यवसाय मे किसी भी प्रकार का नकद या बैंक मे रुपया प्राप्त होता है| चाहे वह Goods Sale से हो या किसी भी प्रकार का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष आय (Direct or Indirect Income) हो रहा हो| तो उसकी Entry हम Tally Prime मे Receipt Voucher मे करते है|

दोस्तो हम इसे यह भी कह सकते है की Tally Prime मे जिस entry से हमारा Cash Balance या Bank Balance मे वृद्धि हो रही हो| तो वह एंट्री Receipt Voucher मे किया जाता है| क्यूकी Cash Balance या Bank Balance मे तभी वृद्धि होती है जब हमे नकद या बैंक मे रुपया प्राप्त होता है|

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Receipt Voucher की Setting कैसे करे|

Tally Prime मे Receipt Voucher पर जाने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करे|

Gateway of Tally → Vouchers → F6

Receipt Voucher मे आने के बाद आप अपने आवश्यकता के अनुसार कुछ Setting भी कर सकते है|

 1. Receipt Voucher नंबर को manual कैसे करे|

यदि आप Receipt Voucher नंबर जो की Tally Prime मे बाय डिफ़ाल्ट Automatic सेट होता है उसे आप manual भी लिख सकते है| इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करना होगा|

Gateway of Tally → Alter → Voucher Type → Receipt → Method of voucher numbering मे हमे Manual ऑप्शन को सिलेक्ट करना है|

इस Setting को करने के बाद आप Receipt Voucher मे Manual Numbering कर सकते है|

2. Tally Prime मे Single entry mode और Double entry mode क्या है|

  • Single entry mode :- दोस्तो Single entry mode उन यूजर के लिए उपयोगी होता है जो अभी Tally सीख रहे है| तथा जिन्हे Dr. और Cr. का ठीक से ज्ञान नही है| Single entry mode को लागू करने के लिए Receipt Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|
  • Double entry mode :- दोस्तो यदि आप Tally अच्छी तरह से सीख चुके है तथा आपको Accounting की भी अच्छी जानकारी है तो आप Double entry mode का चयन कर सकते है| इसमे आपको एक पक्ष को Dr. तथा दूसरे पक्ष को Cr. करना होता है| Double entry mode को लागू करने के लिए कीबोर्ड  से Ctrl+H बटन को Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

Tally Prime मे Cash Received की Entry कैसे करे|

Tally Prime मे हम दो तरीको से Cash प्राप्त करने की एंट्री सीखेंगे|

  1. Single entry mode
  2. Double entry mode

1. Single entry mode मे Cash Received की Entry

Single entry mode को लागू करने के लिए Receipt Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|

उदाहरण के लिए :-

XYZ Pvt Ltd को उधार पर माल बेचा था | जिसके अवज मे उससे 10000 रूपये नकद प्राप्त हुआ|

Cash Received की एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Receipt Voucher Entry in Tally Prime

2. Double entry mode मे Cash Received की Entry

Double entry mode को लागू करने के लिए Receipt Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

इसकी एंट्री Tally मे करने के लिए आपको Accounting के Golden Rules को देखना होगा | उसके बाद ही आप Tally मे Double Entry Mode मे कार्य कर पायेंगे |

XYZ Pvt Ltd को उधार पर माल बेचा था | जिसके अवज मे उससे 10000 रूपये नकद प्राप्त हुआ|

Cash                          Dr. 10000

XYZ Pvt Ltd            Cr.              10000

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Received Voucher Entry in Tally Prime

Tally Prime मे Bank मे रूपये Received की Entry कैसे करे|

दोस्तो यदि आपको किसी भी पार्टी द्वारा Cheque, RTGS, NEFT, IMPS या किसी भी Online Transation के द्वारा बैंक मे रूपये प्राप्त होते है | तो इसकी एंट्री टैलि मे कैसे करेंगे उसे भी देख लेते है|

दोस्तो Bank Received की entry टैलि मे करते समय हमे Cheque No., Cheque Date, Bank Name आदि को डालना होता है| जिससे हम कभी भी Receipt की सारी जानकारी आसानी से देख सकते है|

Tally Prime मे हम दो तरीको से Bank मे रूपये प्राप्त करने की एंट्री सीखेंगे|

  1. Single entry mode
  2. Double entry mode

1. Single entry mode मे Bank Received की Entry

Single entry mode को लागू करने के लिए Receipt Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Single entry mode को सिलेक्ट करना है|

उदाहरण के लिए :-

XYZ Pvt Ltd को उधार पर माल बेचा था | जिसके अवज मे उससे 10000 ICICI Bank बैंक मे प्राप्त हुआ|

Bank Received की एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Received Voucher Entry in Tally Prime

2. Double entry mode मे Bank Received की Entry

Double entry mode को लागू करने के लिए Receipt Voucher पर आकर कीबोर्ड से Ctrl+H बटन Press करना है और Double entry mode को सिलेक्ट करना है|

इसकी एंट्री Tally मे करने के लिए आपको Accounting के Golden Rules को देखना होगा | उसके बाद ही आप Tally मे Double Entry Mode मे कार्य कर पायेंगे |

XYZ Pvt Ltd को उधार पर माल बेचा था | जिसके अवज मे उससे 10000 रूपये ICICI Bank मे प्राप्त हुआ|

ICICI Bank               Dr. 10000

XYZ Pvt Ltd            Cr.              10000

इसकी एंट्री Tally Prime मे हम निम्न प्रकार से करेंगे|

Received Voucher Entry in Tally Prime

Tally Prime मे Cheque No., Cheque Date, तथा Bank Name कहा पर लिखे |

जब आप Tally Prime मे Receipt Voucher मे Bank की Entry करते समय Amount लिखने के बाद Enter दबाते है| तो आपके सामने एक विंडो खुल के आ जाता है| जिसमे Inst No. यानि Cheque No., Inst Date यानि Cheque Date, Bank Name आदि डालने का ऑप्शन आता है| जिसमे आप सारे डिटेल्स को डाल के Save कर सकते है |

Receipt Voucher Entry in Tally Prime

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे |

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Receipt Voucher की Entry कैसे करे? Read More »

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे | पूरी जानकारी हिन्दी मे |

How to Pass Sales Entry with GST in Tally Prime ?

दोस्तो यदि आपको Tally Prime मे GST के साथ Sales की Entry करने मे परेशानी हो रही है| तो यह पोस्ट आपके लिए मददगार साबित हो सकती है| क्यूकी हमने इस पोस्ट मे बताया है की आप Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे ? How to Pass Sales Entry with GST in Tally Prime ?

दोस्तो Tally Prime मे विक्री (Sales), नकद (Cash) हो या उधार (Credit) दोनों की प्रविष्टि (Entry) की प्रक्रिया समान होती है| अंतर केवल इतना ही होती है की नकद विक्री के लिए Cash या Bank और उधार विक्री के लिए Buyer Ledger का चयन करना होता है| इस पोस्ट मे जीएसटी (GST) के साथ Sales Entry के बारे मे विस्तार से चर्चा करेंगे|

Tally Prime उपयोगकर्ता को Sales Record रखने के लिए अलग-अलग Invoice Mode को उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है| 

Item Invoice Mode :- आइटम इन्वाइस मोड का उपयोग करके आप आइटम (Item) की विक्री को रिकॉर्ड कर सकते है|

Accounting Invoice Mode :- अकाउंटिंग इन्वाइस मोड का उपयोग करके आप आइटम (Item) के बिना विक्री के रिकॉर्ड को रख सकते है|

As Voucher :- इस मोड का उपयोग करके आप विक्री के रिकॉर्ड को Voucher mode मे रख सकते है|

GST के साथ Sales Entry का Record रखने के लिए नीचे दिये गए स्टेप को फॉलो करे|

Step 1 :- Gateway of Tally पर जाए > Vouchers को सिलेक्ट करे > F8 बटन को  दबाये| या आप Alt+G (Go To) बटन को दबाये > Create Voucher को सिलेक्ट करे > F8 बटन को दबाके Sales Voucher को ओपेन कर ले|

Step 2 :- अब Voucher Mode को सिलेक्ट करने के लिए Ctrl+H बटन दबाये और Item Invoice को सिलेक्ट करे ले|

Step 3 :- F12 बटन को Press करे और “Provide Receipt, Order, and Import details” को Yes कर दे| “Modify Tax Rate details of GST” को भी Yes कर दे| और “Select common Ledger Account for Item Allocation” को भी Yes कर दे| 

Step 4 :- F2 बटन को Press करे और Voucher Date डाले|

Step 5 :- Invoice No. मे यदि आपने Automatic सेट करके रखा है तो यह ऑटोमैटिक Invoice No. आ जाएगा और यदि आपने Manual सेट करके रखा है तो आपको Invoice No. अपने से डालना होगा|

Step 6 :- Party A/c name मे यदि आपने नकद विक्री की है तो Cash या Bank को सिलेक्ट करे| और यदि आपने उधार मे बेचा है तो Buyer ledger को सिलेक्ट करे| यदि आपको नही पता की Ledger कैसे बनाते है तो इस पोस्ट को पढ़ सकते है Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Step 7 :- अब आपके सामने Dispatch Details की विंडो ओपेन होगी इसमे आप अपने माल (Goods) Dispatch से संबन्धित डिटेल्स को डाल दे|

Step 8 :- अब आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन होगी इसमे आप Buyer की डिटेल्स को डाल दे| जैसे की Buyer Name, Address, GST Details आदि|

Step 9 :- Sales Ledger मे यदि GST Rate Define नही है तो सामान्य Sales Ledger को सिलेक्ट करे|

Step 10 :- अब आपके सामने Tax Classification details की विंडो ओपेन हो जाएगी| आप अपने Invoice के हिसाब से Classification/Nature को सिलेक्ट कर ले| उदाहरण के लिए यदि आप अपने राज्य के बाहर Taxable Goods की विक्री कर रहे है तो Interstate Sales Taxable को सिलेक्ट कर ले| और यदि आप राज्य के अंदर ही Taxable Goods की विक्री कर रहे है तो आप Sales Taxable को सिलेक्ट कर ले| इसमे आपको और भी बहुत सारे ऑप्शन मिल जाएगे आप अपने हिसाब से सिलेक्ट कर ले|

Step 11 :- Name of Item मे आप विभिन्य GST Rate के साथ परिभाषित Stock Item को सिलेक्ट करे और उनके Quantity और Rate को डाले|

Step 12 :- Stock Item को डालने के बाद Center Tax या State Tax Ledger को सिलेक्ट करे| GST की गणना Stock Item मे परिभाषित GST Rate के आधार पर की जाएगी|

Step 13 :- Provide GST/e-Way Bill details मे यदि आप e-Way Bill के Details को डालना चाहते है तो इसे Yes करके डाल सकते है|

Step 14 :- Narration इसमे यदि आप अपने Invoice से संबन्धित कोई विवरण देना चाहते है तो इसमे लिख सकते है| 

Step 15 :- सारे डिटेल्स को भरने के बाद इसे Accept करा दे|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे |

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे GST के साथ Sale Entry कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे GST के साथ Sales Entry कैसे करे | पूरी जानकारी हिन्दी मे | Read More »

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे | पूरी जानकारी हिन्दी मे |

How to Pass Purchase Entry with GST in Tally Prime ?

दोस्तो यदि आपको Tally Prime मे GST के साथ Purchase की Entry करने मे परेशानी हो रही है| तो यह पोस्ट आपके लिए मददगार साबित हो सकती है| क्यूकी हमने इस पोस्ट मे बताया है की आप Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ? How to Pass Purchase Entry with GST in Tally Prime ?

दोस्तो Tally Prime मे खरीद (Purchase), नकद (Cash) हो या उधार (Credit) दोनों की प्रविष्टि (Entry) की प्रक्रिया समान होती है| अंतर केवल इतना ही होती है की उपयोगकर्ता को नकद खरीद के लिए Cash या Bank और उधार खरीद के लिए Supplier Ledger का चयन करना होता है| इस पोस्ट मे जीएसटी (GST) के साथ Purchase Entry के बारे मे विस्तार से चर्चा करेंगे|

Tally Prime उपयोगकर्ता को Purchase Record रखने के लिए अलग-अलग Invoice Mode का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है| 

Item Invoice Mode :- आइटम इन्वाइस मोड का उपयोग करके आप आइटम (Item) की खरीद को रिकॉर्ड कर सकते है|

Accounting Invoice Mode :- अकाउंटिंग इन्वाइस मोड का उपयोग करके आप आइटम (Item) के बिना खरीद के रिकॉर्ड को रख सकते है|

As Voucher :- इस मोड का उपयोग करके आप खरीद के रिकॉर्ड को Voucher mode मे रख सकते है|

GST के साथ Purchase Entry का Record रखने के लिए नीचे दिये गए स्टेप को फॉलो करे|

Step 1 :- Gateway of Tally पर जाए > Vouchers को सिलेक्ट करे > F9 बटन को  दबाये| या आप Alt+G (Go To) बटन को दबाये > Create Voucher को सिलेक्ट करे > F9 बटन को दबाके Purchase Voucher को ओपेन कर ले|

Step 2 :- अब Voucher Mode को सिलेक्ट करने के लिए Ctrl+H बटन दबाये और Item Invoice को सिलेक्ट करे ले|

Step 3 :- F12 बटन को Press करे और “Provide Receipt, Order, and Import details” को Yes कर दे| “Modify Tax Rate details of GST” को भी Yes कर दे| और “Select common Ledger Account for Item Allocation” को भी Yes कर दे| 

Step 4 :- F2 बटन को Press करे और Voucher Date डाले|

Step 5 :- Supplier Invoice No. और Date को डाले जो आपके बिल (Invoice) मे है|

Step 6 :- Party A/c name मे यदि आपने नकद खरीदा है तो Cash या Bank को सिलेक्ट करे| और यदि आपने उधार पर खरीदा है तो Supplier ledger को सिलेक्ट करे| यदि आपको नही पता की Ledger कैसे बनाते है तो इस पोस्ट को पढ़ सकते है Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Step 7 :- अब आपके सामने Receipt Details की विंडो ओपेन होगी इसमे आप अपने माल (Goods) Receipt से संबन्धित डिटेल्स को डाल दे|

Step 8 :- अब आपके सामने Party Details की विंडो ओपेन होगी इसमे आप Supplier की डिटेल्स को डाल दे| जैसे की Supplier Name, Address, GST Details आदि|

Step 9 :- Purchase Ledger मे यदि GST Rate Define नही है तो सामान्य Purchase Ledger को सिलेक्ट करे|

Step 10 :- अब आपके सामने Tax Classification details की विंडो ओपेन हो जाएगी| आप अपने Invoice के हिसाब से Classification/Nature को सिलेक्ट कर ले| उदाहरण के लिए यदि आपने अपने राज्य के बाहर से Taxable Goods खरीदा है तो Interstate Purchase Taxable को सिलेक्ट कर ले| और यदि आपने राज्य के अंदर ही Taxable Goods खरीदा है तो आप Purchase Taxable को सिलेक्ट कर ले| इसमे आपको और भी बहुत सारे ऑप्शन मिल जाएगे आप अपने हिसाब से सिलेक्ट कर ले|

Step 11 :- Name of Item मे आप विभिन्य GST Rate के साथ परिभाषित Stock Item को सिलेक्ट करे और उनके Quantity और Rate को डाले| यह आपको Purchase Invoice मे मिल जाएगा|

Step 12 :- Stock Item को डालने के बाद Center Tax या State Tax Ledger को सिलेक्ट करे| GST की गणना Stock Item मे परिभाषित GST Rate के आधार पर की जाएगी|

Step 13 :- Provide GST/e-Way Bill details मे यदि आप e-Way Bill के Details को डालना चाहते है तो इसे Yes करके डाल सकते है|

Step 14 :- Narration इसमे यदि आप अपने Invoice से संबन्धित कोई विवरण देना चाहते है तो इसमे लिख सकते है| 

Step 15 :- सारे डिटेल्स को भरने के बाद इसे Accept करा दे|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे | पूरी जानकारी हिन्दी मे | Read More »

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ? How to Create Godown in Tally Prime Hindi

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ? How to Create Godown in Tally Prime Hindi

दोस्तो यदि आप Accounting के लिए Tally Prime Software का Use कर रहे है और आपको Tally Prime मे यह समझ नही आ रहा है की Godown कैसे बनाए| तो यह Article आपके लिए है, क्यूकी आज हमने इस Article मे बताया है की Tally Prime मे Godown क्या है? Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ? How to Create Godown in Tally Prime Hindi.

Tally Prime मे Godown क्या है? What is Godown in Tally Prime?

दोस्तो Godown वह जगह होती है जहा पर हम खरीदने या बेचने वाले समान को रखते है| हर एक दुकान की अपनी एक Godown होती है| जहा पर सामान या स्टॉक को रखा जाता है, इसे ही Godown कहते है| 

टैलि हमे यह सुविधा देती है की हम अपने गोदाम के हिसाब से अपने सामान या स्टॉक को मैनेज कर सकते है| तथा किसी भी Godown के Stock को ज्ञात सकते है| और माल को खरीदने या बेचते समय आसानी से निर्णय ले सकते है की सामान को किस Godown मे रखना है या किस Godown से देना है|

टैलि मे पहले से ही Main Location नाम से एक Godown बना होता है| Main Location हम उस स्थान को कहते है, जहा से हम अपने व्यापार का संचालन करते है| जो आपकी दुकान या शॉप हो सकती है| लेकिन यदि आपका सामान ज्यादा है और आप अपने सामान को कही दूसरे लोकेशन पर रखते है तो आप टैलि मे उस लोकेशन के नाम से भी Godown बना सकते है| तथा उसे मैनेज कर सकते है|

इसे भी पढे :- Tally Prime All Shortcut Keys in Hindi – Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ? How to create Godown in Tally Prime

Tally Prime मे Godown को बनाने के लिए नीचे दिये गए स्टेप को Flow करे|

Step 1 :- सबसे पहले Tally Prime को अपने Computer मे Open कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 :-  Gateway of Tally पर आपको Create का ऑप्शन मिलेगा इसपे क्लिक करे|

Step 3 :- Create पर क्लिक करते ही आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पे आपको Godown का ऑप्शन दिखाई देगा| इस पे क्लिक करे| 

Step 4 :- यहा पर आपको पूछेगा “Do you want to alter Main Location or Create a new Godown?” यहा पर आपको Create New पर क्लिक करना है|

Step 5 :- अब आपके सामने Godown Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पर आपको जो भी Godown बनाना है उसकी Details को fill कर दे|

Name – इसमे आपको जिस नाम से Godown बनाना है उस नाम को टाइप कर दे|

Alias – इसमे आप अपने Godown का कोई भी वैकल्पिक नाम दे सकते है या इसे खाली भी छोड़ सकते है|

Under – यहा हम अभी Primary ही रहने देंगे| क्यूकी हम अभी मुख्य Godown बना रहे है| यदि आप Sub-Godown बनाना चाहते है अर्थात यदि आप Godown के अंदर एक और Godown को बनाना चाहते है| तो यहा दूसरे Godown को सिलेक्ट करेंगे|

Step 6 :- अब इसको Save कर दे आपका Godown Create हो जाएगा|

How to alter Godown in Tally Prime ?

Tally Prime मे Godown को Alter करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally की विंडो मे Alter का ऑप्शन दिखाई देगा उसपे क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Godown पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने Godown की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Godown को Alter करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आपके सामने वह Godown ओपेन हो जाएगी अब आप इसमे जो भी बदलाव करना है उसे करके Accept करा दे|

How to delete Godown in Tally Prime ?

Tally Prime मे Godown को Delete करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally से Alter के ऑप्शन पर क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Godown पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने Godown की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Godown को Delete  करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आप अपने Keyboard से Alt+D प्रेस करके इस Godown को डिलीट कर सकते है|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Godown को Create, Alter या Delete कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ? How to Create Godown in Tally Prime Hindi Read More »

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ? How to Create Unit in Tally Prime Hindi

How to Create Unit in Tally Prime Hindi

दोस्तो यदि आप Accounting के लिए Tally Prime Software का Use कर रहे है और आपको Tally Prime मे Stock Item बनाते समय यह समझ नही आ रहा है की Unit कैसे बनाए| तो यह Article  आपके लिए है, क्यूकी आज हमने इस Article मे बताया है की Tally Prime मे Unit क्या है? Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ? How to Create Unit in Tally Prime Hindi.

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ? How to Create Unit in Tally Prime Hindi

Tally Prime मे Unit क्या है? What is Unit in Tally Prime?

दोस्तो Tally मे हर एक Stock की अपनी एक Unit होती है| जिसके जरिये हम किसी  भी Stock या Inventory को Measure करते है| Tally मे हर Stock Item के लिए Particulars Unit को Use किया जाता है| तो चलिये हम Tally Prime के कुछ Units के Example को देखते है|

Example Of Units :- Bags, Box, Pieces, Kilograms, Numbers, Packs, Square Feet, Cartons, Meters, Etc.  

इसे भी पढ़े :-  Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Unit कितने प्रकार के होते है? Types of Units in Tally Prime? 

Tally Prime मे दो प्रकार के Unit होते है| Simple Unit और Compound Unit.

  1. Simple Unit :- इस Unit मे एक ही यूनिट शामिल होती है जैसे – BAG-BAGS, PCS-PIECES, KGS-KILOGRAMS, NOS-NUMBERS इत्यादि इनको हम Simple Unit कहते है|
  2. Compound Unit :- इस Unit मे एक साथ काफी Units शामिल होती है| जैसे- A Box of 10 Pieces, A Pack of 5 Pieces, A Carton of 100 Pieces इत्यादि इनको हम Compound Unit कहते है|

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit को बनाने के लिए नीचे दिये गए स्टेप को Flow करे|

Step 1 :- सबसे पहले Tally Prime को अपने Computer मे Open कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 :-  Gateway of Tally पर आपको Create का ऑप्शन मिलेगा इसपे क्लिक करे|

Step 3 :- Create पर क्लिक करते ही आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पे आपको Unit का ऑप्शन दिखाई देगा| इस पे क्लिक करे| 

Step 4 :- अब आपके सामने Unit Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पर आपको जो भी Unit बनाना है उसकी Details को fill कर दे|

Type :- आप जिस भी टाइप की Unit बनाना चाहते है उसको सिलैक्ट कर ले|

Symbol :- यहा आपको उस Unit का Symbol डालना है, जैसे की यदि आप Pieces की Unit को Create कर रहे है| तो आप Symbol मे PCS लिखेंगे| 

Formal Name :- यहा आपको उस Unit का Formal Name टाइप करना है, जैसे की यदि आप Pieces की Unit को Create कर रहे है| तो आप Formal Name मे Pieces लिखेंगे|

Unit Quantity Code (UQC) :- यहा आपको उस Unit का Unit Quantity Code सिलेक्ट करना होगा| जैसे Pieces के लिए PCS-PIECES को सिलेक्ट करना होगा|

Number of decimal places :- यहा आपको नंबर के बाद जो Zero Value आती है, उस value को देना होता है| आप यहा अभी के लिए 2 वैल्यू दे दे|

Step 5 :- अब इसको Save कर दे आपका Unit Create हो जाएगा|

How to alter Unit in Tally Prime ?

Tally Prime मे Unit को Alter करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally की विंडो मे Alter का ऑप्शन दिखाई देगा उसपे क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Unit पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने Units की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Unit को Alter करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आपके सामने वह Unit ओपेन हो जाएगी अब आप इसमे जो भी बदलाव करना है उसे करके Accept करा दे|

How to delete unit in Tally Prime ?

Tally Prime मे Unit को Delete करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally से Alter के ऑप्शन पर क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Unit पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने Units की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Unit को Delete  करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आप अपने Keyboard से Alt+D प्रेस करके इस Unit को डिलीट कर सकते है|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Unit को Create, Alter या Delete कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ? How to Create Unit in Tally Prime Hindi Read More »

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ? How to Create Stock Group in Tally Prime Hindi

How to Create Stock Group in Tally Prime Hindi

दोस्तो यदि आपको भी Tally Prime मे Stock Group Creation मे दिक्कत आ रही है| तो यह Article आपके लिए मददगार साबित हो सकता है| क्यूकी हमने इस पोस्ट मे बताया है की Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ? How to Create Stock Group in Tally Prime Hindi और यदि Stock Group बनाते समय कोई गलती हो जाये तो आप किस प्रकार सुधार (Alter) करेंगे| तथा Stock Group को कैसे Delete करेंगे|

दोस्तो Tally Prime मे Stock Group बनाने से पहले हम यह जान लेते है की Tally Prime मे Stock Group होता क्या है|

Tally Prime मे Stock Group क्या है?

दोस्तो जिस भी व्यवसाय मे Goods (माल) का Sale या Purchase हो रहा हो| तो उस व्यवसाय मे Stock या Inventory Maintain करना बहुत ही जरूरी होता है| क्यूकी इससे आपको अपने Goods (माल) के Stock के बारे मे पता चलता है| इसी Goods (माल) को हम Tally Prime मे Stock Item कहते है| और इन्ही Stock Item के Group को हम Stock Group कहते है|

उदाहरण के लिए यदि आप किसी Mobile की दुकान की Accounting Tally मे कर रहे है और उस दुकान मे अलग-अलग ब्रांड के Mobile फोन उपलब्ध है| जैसे Samsung, Oppo, Vivo, Realme आदि| तो इन सब ब्रांड के नाम को Tally मे Stock Group कहते है और जीतने भी इस ब्रांड के Mobile फोन है वो सब Tally मे Stock Item है| यानि Samsung मोबाइल की जितनी भी Model है वह Stock Item है| और हम उन सब Samsung Mobile के Model को Samsung Group मे रखेंगे|

Tally prime मे हम Stock Group को दो प्रकार से Create कर सकते है| यदि आपको एक ही Stock Group को Create करना है तो आप Single Stock Group के द्वारा Stock Group को Create कर सकते है| मगर यदि आपको एक से ज्यादा Stock Group Create करना है तो आप Multiple Stock Group के द्वारा Stock Group Create कर सकते है| तो चलिए दोनों के बारे मे जानते है|

 

इसे भी पढे :- Tally Prime All Shortcut Keys in Hindi – Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

 How to Create Single Stock Group in Tally Prime Hindi

दोस्तो Tally Prime मे Single Stock Group को बनाने के लिए निम्नलिखित स्टेप को Follow करे|

Step 1 :- सबसे पहले Tally Prime को अपने Computer मे Open कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 :-  Gateway of Tally पर आपको Create का ऑप्शन मिलेगा इसपे क्लिक करे|

Step 3 :- Create पर क्लिक करते ही आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पे आपको Stock Group का ऑप्शन दिखाई देगा| इस पे क्लिक करे| 

Step 4 :- अब आपके सामने Stock Group Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पर आपको जो भी Stock Group बनाना है उसकी Details को fill कर दे|

  1. Name – यहा पर आप अपने Stock Group Name को टाइप करे| उदाहरण के लिए मैं Samsung Mobile का Stock Group Create कर रहा हु|
  2. alias – यहा पर आप अपने Stock Group का कोई भी वैकल्पिक नाम दे सकते है अन्यथा इसे आप छोड़ भी सकते है|
  3. Under – यहा पर आप Primary ही रहने दे|यदि आप किसी और Stock Group के अंदर इस Group को रखना चाहते है| तो आप इसे भी रख सकते है|
  4. Should quantities of items be added – यदि आप Stock Group मे आने वाले सभी Items की टोटल (Total) को देखना चाहते है| तो इस ऑप्शन को Yes कर दे|
  5. Set/Alter Gst Details –  इस ऑप्शन को Yes करके आप अपने Stock Group की डिटेल्स और GST Rates को Setup कर सकते है| आप जैसे ही इसे Yes करेंगे तो आपके सामने GST Details for Stock Group की विंडो ओपेंन हो जाएगी| जो की इस प्रकार है|

Description – इसमे आप Stock Group का विवरण Fillup करे|

HSN/SAC – इसमे आप Stock Group का HSN Code Fillup करे|

Is non-GST  – इस ऑप्शन को No रहने दे|

Calculation type – इसमे आप On Value को सिलेक्ट रहने दे|

Taxability – यदि आपके Stock Group पर GST लगता है तो यहा Taxable ऑप्शन को सिलेक्ट कर ले|

Tax Type – आपके Stock Group पर जितना Percentage Tax लगता है उसको Fillup कर दे और इसे Accept करा दे|

Step 5 :- सभी details को भरने के बाद इसे Accept करा दे| आपका Stock Group Create हो जाएगा|

How to Create Multiple Stock Group in Tally Prime Hindi

Tally Prime मे multiple Stock Group Create करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे |

Step 1 – सबसे पहले अपने कम्प्युटर मे Tally Prime को ओपेन कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 –  Gateway of Tally की विंडो पर Chart of Accounts का ऑप्शन दिखाई देगा| इसपे क्लिक करे|

Step 3 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Group पर क्लिक करना है|

Step 4 – अब आपके सामने List of Stock Group की विंडो दिखाई देगी यहा पे आपको Alt+H प्रेस करना है|

Step 5 – अब आपके सामने Multi-Master की विंडो दिखाई देगी इसमे से आपको Multi Create पर क्लिक करना है|

Step 6 – अब आपके सामने Multi Stock Group Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| इसमे पहला ऑप्शन आपको Under Group का मिलेगा| यदि आप Stock Group किसी एक ही ग्रुप से संबन्धित बना रहे है तो आप उस Stock Group का नाम सिलेक्ट कर सकते है| यदि आप पहले से कोई भी Stock Group नही बनाये है तो आप Keyboard से Alt+C Press करके बना सकते है| मगर यदि Stock Group अलग-अलग Stock Group से संबन्धित है तो आप Under Group मे All Items को सिलेक्ट कर सकते है|

Step 7 – Name of Stock Group मे ग्रुप का नाम टाइप करे, यदि आपने Under Group मे किसी ग्रुप का नाम सिलेक्ट किया है तो Under मे ऑटोमैटिक उस ग्रुप का नाम आ जाएगा| मगर यदि आपने Under Group मे All Item को सिलेक्ट किया है तो आपको Stock Item के लिए Stock Group का नाम सिलेक्ट करना होगा| यहा पर आप Primary को ही सिलेक्ट रहने दे| यदि आपको कोई दूसरे Stock Group मे इस ग्रुप को डालना है तो आप उसे भी डाल सकते है|

Step 8 – Should quantities of items be added – यदि आप Stock Group मे आने वाले सभी Items की टोटल (Total) को देखना चाहते है| तो इस ऑप्शन को Yes कर दे|

Step 9 – Single Group बनाते समय आपको और भी कई ऑप्शन मिलते है उन सब ऑप्शन को अपने Group मे एड़ करने के लिए कीबोर्ड से Ctrl+I बटन प्रेस करे| उसके बाद आपके सामने More Details की विंडो ओपेन हो जाएगी उसमे से आपको जो भी डिटेल्स एड़ करनी है उसे एड़ कर सकते है|

Step 10 – सारे डिटेल्स को भरने के बाद इसे Accept करा दे अब आपके सारे Stock Group Create हो जाएंगे|

How to alter Stock Group in Tally Prime ?

Tally Prime मे Stock Group को Alter करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally की विंडो मे Alter का ऑप्शन दिखाई देगा उसपे क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Group पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने List of Stock Group की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Stock Group को Alter करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आपके सामने वह Stock Group ओपेन हो जाएगी अब आप इसमे जो भी बदलाव करना है उसे करके Accept करा दे|

How to delete Stock Group in Tally Prime ?

Tally Prime मे Stock Group को Delete करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally से Alter के ऑप्शन पर क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Group पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने List of Stock Group की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी स्टॉक ग्रुप को Delete  करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आप अपने Keyboard से Alt+D प्रेस करके इस Stock Group को डिलीट कर सकते है|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Stock Group को Create, Alter या Delete कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ? How to Create Stock Group in Tally Prime Hindi Read More »

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ? How to Create Stock Item in Tally Prime Hindi

How to Create Stock Item in Tally Prime Hindi 

दोस्तो यदि आपको भी Tally Prime मे Stock Item Creation और Inventory Management मे दिक्कत आ रही है| तो यह Article आपके लिए मददगार साबित हो सकता है| क्यूकी हमने इस पोस्ट मे बताया है की Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ? How to Create Stock Item in Tally Prime Hindi और यदि Stock Item बनाते समय कोई गलती हो जाये तो आप किस प्रकार सुधार (Alter) करेंगे| तथा Stock Item को कैसे Delete करेंगे|

दोस्तो Tally Prime मे Stock Item बनाने से पहले हम यह जान लेते है की Tally Prime मे Stock Item होता क्या है|

Tally Prime मे Stock Item क्या है?

दोस्तो जिस भी व्यवसाय मे Goods (माल) का Sale या Purchase हो रहा हो| तो उस व्यवसाय मे Stock या Inventory Maintain करना बहुत ही जरूरी होता है| क्यूकी इससे आपको अपने Goods (माल) के Stock के बारे मे पता चलता है| इसी Goods (माल) को हम Tally Prime मे Stock Item कहते है| Tally prime मे हम Stock Item को दो प्रकार से Create कर सकते है| यदि आपको एक ही Stock Item को Create करना है तो आप Single Stock Item के द्वारा Stock Item को Create कर सकते है| मगर यदि आपको एक से ज्यादा Stock Item Create करना है तो आप Multiple Stock Item के द्वारा Stock Item Create कर सकते है| तो चलिए दोनों के बारे मे जानते है|

 

इसे भी पढे :- Tally Prime All Shortcut Keys in Hindi – Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

 How to Create Single Stock Item in Tally Prime Hindi

दोस्तो Tally Prime मे Single Stock Item को बनाने के लिए निम्नलिखित स्टेप को Follow करे|

Step 1 :- सबसे पहले Tally Prime को अपने Computer मे Open कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 :-  Gateway of Tally पर आपको Create का ऑप्शन मिलेगा इसपे क्लिक करे|

Step 3 :- Create पर क्लिक करते ही आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पे आपको Stock Item का ऑप्शन दिखाई देगा| इस पे क्लिक करे| 

Step 4 :- अब आपके सामने Stock Item Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| यहा पर आपको जो भी Stock Item बनाना है उसकी Details को fill कर दे|

  1. Name – यहा पर आप अपने Stock Item Name को टाइप करे| उदाहरण के लिए मैं Hyundai Grand i10 nios का Stock create कर रहा हु|
  2. alias – यहा पर आप अपने Stock Item का कोई भी वैकल्पिक नाम दे सकते है अन्यथा इसे आप छोड़ भी सकते है|
  3. Under – यहा पर आपको Stock Item के लिए Stock Group को सिलेक्ट करना है जैसे की मैंने Stock Item मे एक Car के नाम को टाइप किया है| तो Under मे मैं Car को लूँगा| लेकिन इससे पहले आपको इस Stock Group को Create करना होता है उसके लिए आप Keyboard से Alt+C Press करके Stock Group बना ले| Tally मे Stock Group कैसे बनाते है यह आपको नही पता तो इस article को पढ़ सकते है – Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?
  4. Units – यहा पर आप अपने Stock Item के लिए Units को Create कर ले| यानि आप अपने स्टॉक आइटम के Quantity को किस प्रकार मैंटेन करना चाहते है| जैसे की मैं अपने स्टॉक आइटम को Piece मे मैंटेन करना चाहता हु| तो मैं PCS-PIECES यूनिट को सिलेक्ट कर लूँगा| आप अपने हिसाब से सिलेक्ट कर ले|
  5. Statutory Details – यहा पर आपको अपने Stock Item का GST Define करना है की इस आइटम पर कितना प्रतिशत GST लगता है|
  • GST Applicable – यदि आपके Stock Item पर GST Applicable है तो इसमे आप Applicable के ऑप्शन को सिलेक्ट कर दे|
  • Set/Alter –  इस ऑप्शन को Yes करके आप अपने Stock Item की डिटेल्स और GST Rates को Setup कर सकते है| आप जैसे ही इसे Yes करेंगे तो आपके सामने GST Details for Stock Item की विंडो ओपेंन हो जाएगी| जो की इस प्रकार है|

Description – इसमे आप Stock Item का विवरण Fillup करे|

HSN/SAC – इसमे आप Stock Item का HSN Code Fillup करे|

Is non-GST  – इस ऑप्शन को No रहने दे|

Calculation type – इसमे आप On Value को सिलेक्ट रहने दे|

Taxability – यदि आपके Stock Item पर GST लगता है तो यहा Taxable ऑप्शन को सिलेक्ट कर ले|

Tax Type – आपके Stock Item पर जितना Percentage Tax लगता है उसको Fillup कर दे और इसे Accept करा दे|

6. Opening Balance – यदि आपके Stock Item का कोई Opening Balance हो तो इसमे Fillup कर दे|

    • Quantity – इसमे Stock Item की Quantity को Fillup कर दे|
    • Rate – इसमे Stock Item के Rate को Fillup कर दे|
    • Value – यह Automatic Calculate हो जाएगा|

Step 5 :- सभी details को भरने के बाद इसे Accept करा दे| आपका Stock Item Create हो जाएगा|

How to Create Multiple Stock Item in Tally Prime Hindi

Tally Prime मे multiple Stock Item Create करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे |

Step 1 – सबसे पहले अपने कम्प्युटर मे Tally Prime को ओपेन कर ले| और Gateway of Tally पर चले जाए|

Step 2 –  Gateway of Tally की विंडो पर Chart of Accounts का ऑप्शन दिखाई देगा| इसपे क्लिक करे|

Step 3 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Item पर क्लिक करना है|

Step 4 – अब आपके सामने List of Stock Items की विंडो दिखाई देगी यहा पे आपको Alt+H प्रेस करना है|

Step 5 – अब आपके सामने Multi-Master की विंडो दिखाई देगी इसमे से आपको Multi Create पर क्लिक करना है|

Step 6 – अब आपके सामने Multi Stock Item Creation की विंडो ओपेन हो जाएगी| इसमे पहला ऑप्शन आपको Under Group का मिलेगा| यदि आप Stock Item किसी एक ही ग्रुप से संबन्धित बना रहे है तो आप उस Stock Group का नाम सिलेक्ट कर सकते है| यदि आप पहले से कोई भी Stock Group नही बनाये है तो आप Keyboard से Alt+C Press करके बना सकते है| मगर यदि Stock Item अलग-अलग Stock Group से संबन्धित है तो आप Under Group मे All Items को सिलेक्ट कर सकते है|

Step 7 – Name of Item मे ग्रुप का नाम टाइप करे, यदि आपने Under Group मे किसी ग्रुप का नाम सिलेक्ट किया है तो Under मे ऑटोमैटिक उस ग्रुप का नाम आ जाएगा| मगर यदि आपने Under Group मे All Item को सिलेक्ट किया है तो आपको Stock Item के लिए Stock Group का नाम सिलेक्ट करना होगा| Units मे अपने Stock Item के Units को सिलेक्ट कर ले| यदि आपके Stock Item का Opening Balance है तो यहा पे Opening Quantity, Rate और Amount को डाल दे|

Step 8 – Single Group बनाते समय आपको और भी कई ऑप्शन मिलते है उन सब ऑप्शन को अपने Group मे एड़ करने के लिए कीबोर्ड से Ctrl+I बटन प्रेस करे| उसके बाद आपके सामने More Details की विंडो ओपेन हो जाएगी उसमे से आपको जो भी डिटेल्स एड़ करनी है उसे एड़ कर सकते है|

Step 9 – सारे डिटेल्स को भरने के बाद इसे Accept करा दे अब आपके सारे Stock Item Create हो जाएंगे|

How to alter Stock Item in Tally Prime ?

Tally Prime मे Stock Item को Alter करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally की विंडो मे Alter का ऑप्शन दिखाई देगा उसपे क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Item पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने List of Stock Item की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी Stock Item को Alter करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आपके सामने वह Stock Item ओपेन हो जाएगी अब आप इसमे जो भी बदलाव करना है उसे करके Accept करा दे|

How to delete Stock Item in Tally Prime ?

Tally Prime मे Stock Item को Delete करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करे|

Step 1 –  Gateway of Tally से Alter के ऑप्शन पर क्लिक करे|

Step 2 – अब आपके सामने List of Masters की विंडो ओपेन होगी, इसमे आपको Stock Item पर क्लिक करना है|

Step 3 – अब आपके सामने List of Stock Item की लिस्ट खुल जाएगी अब आपको जिस भी स्टॉक Item को Delete  करना है उस पे क्लिक करे|

Step 4 – अब आप अपने Keyboard से Alt+D प्रेस करके इस Stock Item को डिलीट कर सकते है|

इसे भी पढ़े :- 

Tally Prime के सभी Shortcut Keys के बारे मे जाने हिन्दी मे

Tally Prime मे GST के साथ Purchase Entry कैसे करे ?

Tally Prime मे Godown कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Unit कैसे बनाए ?

Tally Prime मे Stock Group कैसे बनाये ?

Tally Ledgers Under Group List in Hindi ?

Tally Prime me Ledger kaise banaye ?

Tally Prime me group kaise banaye ?

Tally Prime मे Company कैसे बनाये?

What is Tally Prime ? Tally Prime Features in Hindi

पोस्ट से संबन्धित सारांश :-

आज हमने इस पोस्ट मे सीखा की Tally Prime मे Stock Item को Create, Alter या Delete कैसे करे| यदि आपको टैली प्राइम के बारे मे और भी कुछ जानना है तो आप हमे Comment कर सकते है या हमे Mail कर सकते है| हम उस topic पर भी article बना के publish कर देंगे| हम उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे, जिससे उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके|

Tally Prime मे Stock Item कैसे बनाये ? How to Create Stock Item in Tally Prime Hindi Read More »